MyBlog


View My Stats

मंगलवार, 11 जनवरी 2011

समंदर


२२ अगस्त , २००९ को चेन्नई में समंदर पहली बार महसूस करने पर...


मैंने आज समंदर देखा !

लहरों का चढ़ना - उतराना ,
लहरों का संगीत सुनाना ,
दूर क्षितिज तक जल ही जल , यह दृश्य बड़ा ही सुन्दर देखा !
मैंने आज समंदर देखा !

सीने में तूफ़ान है मगर ,
स्वागत सबके पाँव चूम कर !
ऐसा ही एक सागर मैंने अपने दिल के अन्दर देखा !
मैंने आज समंदर देखा !


- संकर्षण गिरि

2 टिप्‍पणियां:

  1. सीने में तूफ़ान है मगर ,
    स्वागत सबके पाँव चूम कर !
    ऐसा ही एक सागर मैंने अपने दिल के अन्दर देखा !
    मैंने आज समंदर देखा !

    bahut barhiya....
    keep writing...

    उत्तर देंहटाएं
  2. ऐसा ही एक सागर मैंने अपने दिल के अन्दर देखा !
    मैंने आज समंदर देखा... ...बहुत खूब...

    उत्तर देंहटाएं